LPG GAS KYA HAI

0
204

LPG गैस सिलेंडर का उपयोग
आज 90% से भी ज्यादा लोग खाना गेस में बनाते हैं यह हमारे daily life का एक अहम हिस्सा हैं इससे कोई पॉल्युशन या बीमारी का डर नही होता यह आपके स्वास्थ्य, आपकी रसोई और हमारे पर्यावरण के लिए अच्छा है इसका उपयोग बहुत आसान होता हैं जिसे कही भी कभी भी उपयोग किया जा सकता हैं आज हर घर मे ये उपयोग होता हैं महिलायें अपना सबसे ज्यादा वक्त किचन में बिताती हैं क्योंकि पूरे दिन कुछ न कुछ पकाना होता हैं इसलिए आज हम आप सबके लिए गैस सिलेंडर का सही ओर सावधानी से उपयोग ओर बतायेंगे।
ये हमारे किचन की जान होता हैं इससे हमें इसके फायदे ओर नुकसान दोनो हैं यह liquid फॉर्म में होती हैं जिससे खाना बनाने में बहुत helpfull सावित होती हैं जैसे आपको कुछ जल्दी बनाना हो तो आप झट पट बना सकते हैं easy to use होती हैं आपके हाथों में कंट्रोल होता हैं उसे slow flame पर use करना है या high flame पर on off आपके उपयोग के अनुसार कर सकते हो।
LPG गैस के फायदे:-

Easy to use – इसका यूज़ हम असानी से कर सकते हैं क्योंकि इसका पूरा कंट्रोल हमारे हाथ मे होता है अपने उपयोग के हिसाब से कभी भी बंद चालू कर सकते हैं खाना जल्दी बनाना हो तो high flame पर फटा फट बना सकते हैं कोई दूसरा काम करते हुए low flame पर खाना बना सकते हैं इसमे खाना बनाना या उपयोग करने का कोई निश्चित टाइम नही होता हैं कभी भी use कर सकते हैं।
कम गर्मी लगना – जब हम एलपीजी गैस में खाना बनाते है तो यह दूसरे तरीको से बेहतर होती हैं क्योंकि इसमें आपके किचन का तापमान प्रभावित नही होता हैं क्योंकि गैस चूल्हे की आंच बाहर नही आती हैं जिससे आपको गर्मी नही लगती हैं

Safety – भोजन पकाने के लिए सबसे सुरक्षित ओर सुविधाजनक संसाधन गेस चूल्हा ही है।

टिकाऊ और कम खर्चीला – यह पूरी तरह टिकाऊ होता है क्योंकि एक बार आप गेस का कनेक्शन ले लेते हैं तो आपको सिलेंडर ख़त्म होने पर ही दूसरा सिलेंडर लेना होता हैं जिसमे सिर्फ आपको गेस के पैसे देने होते है और चूल्हा आपका सालों साल ख़राब नही होता हैं इसके रख रखाव में भी आपको ज्यादा ध्यान नही देना होता हैं जब यूज़ करे तो on करे जब use न करे तो off रखे इस बात का ध्यान रखना होता हैं यह दूसरे संसाधनों में से सबसे कम खर्चीला होता हैं इसका मतलब यह हैं कि इसका ज्यादा बोझ आपके जेल पर नही आता है 1 बार लेने पर आराम से 1 से 2 महीने 1 सिलेंडर चल जाता है।

ओर इससे किसी भी प्रकार का हमारे
पर्यावरण को नुकसान नही होता हैं।